बिजनेस हो या नौकरी… सफलता के लिए सिर्फ आईडिया नहीं, तरीका भी अलग होना चाहिए

हमने भारत के बड़े-बड़े बिजनेस, प्राइवेट और सरकारी नौकरी करने वाले कई कर्मचारियों के बारे में अक्सर सुना है कि कैसे सबसे कम पूंजी में बड़ा बिजनेस खड़ा किया है। या फिर अपनी नौकरी की साथ-साथ कुछ अलग तरीकों से कैसे कई बड़े-बड़े अधिकारियों ने उल्लेखनीय सफलताएं पाई हैं। तो यहां हम आपको बता दें कि किसी भी फील्ड में सफलता के लिए सिर्फ आईडिया ही काम नहीं आता, बल्कि उसको करने का तरीका भी कुछ हटके हो तो सफलता निश्चित है। वैसे सफलता के बारे में तो यह भी कहा जाता है कि पहले किसी भी सफल इंसान का मजाक बनता है, फिर धीरे-धीरे वो सोच बनती है और फिर सम्मान का हकदार बनता है। तो फिर अगर आपके पास भी ऐसा कोई आईडिया है, और आप उसे अलग तरीके से पेश कर रहे हैं तो सफलता तो आपको मिलनी ही है। बस शुरूआती दौर के परेशानियों को नजरअंदाज करते हुए खुद के लिए रास्ता बनाते चलते चलिए। एक आईडिया को सफलता में तब्दील करने कड़ी मेहनत करनी पड़ती है। 

1. रचनात्मकता को सामने लाएं

वैसे अक्सर देखा जाता है कि लोग प्राइवेट नौकरी या बिजनेस शुरू करते ही टाईप्ड हो जाते हैं। क्योंकि ये उनकी रोजमर्रा की जिंदगी में शामिल होने लगता है। लेकिन कभी आपने सोचा है कि जिस उद्देश्य से आपने नौकरी ज्वाइन की या बिजनेस शुरू किया है, वो वाकई में सच हो रहा है। या फिर अपनी रचनात्मक कई खो गई है, लिहाजा रचनात्मकता को धीरे-धीरे ही सही पर सामने लाएं। इससे आपकी रुचि के साथ-साथ आपका बिजनेस भी बढ़ेगा और यदि नौकरी में है तो उसमें निखार आएगा।

2. विशेषज्ञों की मदद लें

अपनी आईडिया को कुछ अलग तरीके से करने के पहले आप उस समय में दक्ष लोगों से उनकी राय ले सकते हैं। इससे आपको बिजनेस के बारे में लाभ-हानि का गणित समझने में आसानी होगी। वैसे भी बिजनेस शुरू में कुछ परेशानियां दे सकता है, पर धीरे-धीरे उसमें अपने तरीकों से तब्दीली करते हुए ऊंचाइयां छू सकते हैं।

3. बिना सोचे-समझें बिजनेस शुरू ना करें

बिजनेस के बारे में लोग देखा-सीखी पर ज्यादा भरोसा कर लेते हैं और परिणाम अपेक्षाकृत नहीं मिल पाता। लिहाजा, कोई भी बिजनेस शुरू करने से पहले उस पर गंभीरता से विचार करें और फिर बिजनेस शुरू करें।

4. स्टार्टअप शुरू करने से पहले नेचर को समझें

किसी भी बिजनेस की शुरूआत में आपके पास आईडिया तो बहुत होंगे, पर मंजिलों तक आपनी मेहनत ही पहुंचाई, इसलिए कोई भी बिजनेस के पहले उसकी प्रकृति को समझते हुए गहराई में उतरे और सफलता पाएं। इसको एक छोटे से उदाहरण से समझा जा सकता है। यदि बड़े-बड़े उद्योग-धंधे गांव में लगेंगे तो गांव के लोगों को रोजगार तो मिलेगा, लेकिन क्या वहां उत्पादित सामान गांव में ही बिजनेस दे सकता है, नहीं ना…इसलिए उत्पादन और बिक्री दोनों के गणित को समझना और उसकी गहराई में उतरना बेहद जरूरी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *