रुस में मेडिकल कोर्स के लिए है दिलचस्पी तो आपके काम की है ये बातें….

देश में मेडिकल की पढ़ाई के लिए वैसे तो कई बड़े-बड़े सरकारी और प्राइवेट संस्थान भी हैं। जहां मेडिकल की पढ़ाई काफी अच्छी होने के साथ-साथ उनके प्रेक्टिस के लिए भी पर्याप्त अवसर मिलते हैं। वहीं आजकल विदेशों में पढ़ाई का क्रेज लगातार बढ़ रहा है। युवा विदेशों में भी पढ़ाई करने जोर आजमाइश करते रहते हैं। इसमें भी कई तो विशेषज्ञों से राय लेकर अपना कैरियर बनाते हैं तो कई अपने परिजनों से सपोर्ट मांगते नजर आते हैं। 

वैसे आपको बता दें कि हाल में नैशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (नीट) का रिजल्ट आया है। इसकी काउंसलिंग में आए छात्र-छात्राओं ने विदेशों में पढऩे की इच्छा भी जताई है तो इसमें भी रुस से मेडिकल की पढ़ाई करने वाले छात्र-छात्राओं की भरमार दिखी है। कई छात्रों ने यह जानने की जिज्ञासा जताई कि रूस की यूनिवर्सिटियों और मेडिकल संस्थानों में दाखिले के लिए पात्रता की क्या शर्तें हैं। 

इसलिए बढ़ रहा रुस में मेडिकल करने रुझान
वैसे तो मेडिकल की पढ़ाई अमेरिका, ब्रिटेन और इंग्लैंड में भी होती है। इसके बाद भी रुस में मेडिकल की पढ़ाई करने का दौर चल पड़ा है। इसके पीछे मुख्य वजह यहां मेडिकल का कोर्स अन्य देशों के मुकाबले काफी सस्ता बताया जा रहा है। 

मिलती है सब्सिडी भी
बताया जा रहा है कि रूस में मेडिकल कोर्स करने सब्सिडी भी जाती है। इसके अलावा कई अन्य कोर्स के लिए भी सब्सिडी मिलती है। इसलिए रुस में पढ़ाई करना सस्ता होता है।

विदेशी छात्रों को मिलती है खास सुविधाएं
इसके अलावा रुस की यूनिवर्सिटी में विदेशी छात्रों को आधारभूत सुविधाओं के साथ ही हॉस्टल की सुविधाएं उपलब्ध कराई जाती है। वहीं विदेशी छात्रों के लिए वहां एक समर्पित विभाग है। 

अच्छी पढ़ाई पर मिलता है स्कॉलरशिप
इसके अलावा रुस की कई यूनिवर्सिटी में छात्रों के अच्छे प्रदर्शन पर उन्हें प्रोसेसिंग फीस पर ही करीब 1000 डॉलर स्कॉलरशिप मिलती है।

मेडिकल के अलावा ये कोर्स भी हैं
रुस में मेडिकल कोर्सों के अलावा बीटेक, बीबीए, एमबीए, लैंग्वेज प्रोग्राम, एविएशन और टूरिजम कोर्सेज भी ऑफर करती हैं। 

To know about the complete information about studying abroad, check out our Study Abroad section on IndCareer

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *