मीडिया क्षेत्र में बना सकते हैं कैरियर…तो देर किस बात की…करें ये कोर्स…

इलेक्ट्रॉनिक और प्रिंट मीडिया के चकाचौंध को देखकर आज कई छात्र इसी को अपने नौकरी के रूप में देखना चाहते हैं। और ये बड़ी अच्छी बात है, इस क्षेत्र में उन्हें काफी अवसर भी उपलब्ध हो रहे हैं। लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं है कि आप मीडिया क्षेत्र में सिर्फ पत्रकार या एंकर बनकर ही बन पाएंगे। यदि आप मीडिया प्रोफेशन को कैरियर बनाना चाहते हैं तो पत्रकारिता के साथ-साथ आप एडवरटाइजिंग एजेंसी, फिल्म लाइन या पब्लिशिंग हाउस में भी काम कर सकते हैं।

तो हो जाइए तैयार…करें मास कम्यूनिकेशन का कोर्स
पत्रकारिता के क्षेत्र में आज कैरियर बनाने वालों को बीजेएमसी या एमजे करना होता है। यदि आप 12वीं के बाद इस क्षेत्र में जाना चाहते हैं तो आपको 4 साल का बीजेएमसी करना होगा। इसके बाद आप एमजे कर सकते हैं। वहीं यदि आपने किसी भी स्नातकोतर डिग्री ली है, तो एक साल का डिप्लोमा भी कर सकते हैं।

लक्ष्य तय करें
मास कम्यूनिकेशन और जर्नलिजम कोर्स करने के बाद आप तय करें कि आपको कहां जाना है आप टेलिविजन यानी न्यूज चैनल्स जॉइन करना चाहते हैं या रेडियो, प्रिंट, डिजिटल मीडिया, एड एजेंसी आदि में नौकरी करना चाहते हैं। देश के अलग-अलग सरकारी और गैर-सरकारी कॉलेज और यूनिवर्सिटी में मास कम्युनिकेशन की पढ़ाई होती है. इस कोर्स को करने वाले स्टूडेंट्स एंकर, रिपोर्टर, स्क्रिप्ट राइटर, कैमरा पर्सन, एक्टर, डायरेक्टर, वीडियो एडिटर और न्यूज एडिटर के पद पर काम कर सकते हैं।

ये हैं देश के दस टाप कॉलेज
1. इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मास कम्युनिकेशन (आईआईएमसी)
2. अनवर जमाल किदवाई मास कम्युनिकेशन रिसर्च सेंटर, नई दिल्ली
3. फिल्म एंड टेलिविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया, पुणे
4. माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय, भोपाल
5. डिपार्टमेंटन ऑफ जर्नलिजम एंड मास कम्युनिकेशन, बीएचयू
6. डिपार्टमेंट ऑफ कम्युनिकेशन,  हैदराबाद यूनिवर्सिटी
7. जेवियर इंस्टीट्यूट ऑफ कम्युनिकेशन (एक्सआईसी)
8. सिम्बायोसिस इंस्टीट्यूट ऑफ मीडिया एंड कम्युनिकेशन , पुणे
9. मुद्रा इंस्टीट्यूट ऑफ मास कम्युनिकेशन, (एमआईसीए)
10. इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ जर्नलिजम एंड न्यू मीडिया, बैंगलो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *