सीबीएसई : 10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षा को लेकर आया बड़ा फैसला 75 प्रतिशत से कम होगी उपस्थिति तो नहीं दे पाएंगे परीक्षा

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) अंतर्गत 10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षाओं को लेकर एक बड़ा फैसला लिया गया है। इसमें कहा गया कि जिन छात्रों की उपस्थिति 75 प्रतिशत से कम होगी, उन्हें परीक्षा देने से वंचित किया जा सकता है। बोर्ड ने अपने स्कूलों को निर्देश जारी करते हुए कहा है कि बोर्ड के संचालित सभी स्कूल छात्रों की  उपस्थिति की गणना करें और 75 प्रतिशत से कम उपस्थित छात्रों की अलग से सूची बनाकर बोर्ड को अवगत कराए।


आपको बता दें, सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाएं 15  फरवरी से शुरू होंगी और एडमिट कार्ड केवल उन छात्रों के लिए जारी किए जाएंगे जिनकी उपस्थिति 75 प्रतिशत या उससे अधिक होगी. कम उपस्थिति वाले उम्मीदवारों की लिस्ट रीजनल ऑफिस तक पहुंच जाएगी और अंतिम निर्णय 7 जनवरी को या उससे पहले लिया जाएगा। इसके बाद किसी भी प्रकार की मामला बोर्ड नहीं मानेगा। इसलिए समय सीमा के भीतर ही कम उपस्थिति के वास्तविक कारणों को दर्शाना होगा।


सीबीएसई बोर्ड कक्षा 10वीं के मेन पेपर्स के एग्जाम 26 फरवरी 2020 से शुरू होंगे. ये परीक्षाएं 18 मार्च 2020 तक चलेंगी। 12वीं के मुख्य विषयों की परीक्षाएं 22 फरवरी से शुरू होंगी जो 30 मार्च 2020 तक जारी रहेंगी. पिछले साल 10वीं की परीक्षा 7 मार्च से शुरू हुई थी और 29 मार्च 2019 तक चली थीं. वहीं 12वीं 2 मार्च से 2 अप्रैल 2019 तक चले थे।


वहीं कहा जा रहा है कि यदि किसी उम्मीदवार के पास उपस्थिति की कमी के पीछे एक वास्तविक कारण है, तो उन्हें 7 जनवरी तक अधिकारियों के साथ जरूरी दस्तावेज जमा करने होंगे। नोटिस के अनुसार, किसी भी मामले को समय सीमा के बाद नहीं माना जाएगा. छात्र कक्षा में उपस्थित क्यों नहीं हो पाया इसका कारण समय सीमा के भीतर दिया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *